poems

मुरझाई बगियाँ जीवन की, खुशबू से महकाएगी।।

संकट की मँडराई बदलीं, अब जल्दी छट जाएगी ।मुरझाई बगियाँ जीवन की, खुशबू से महकाएगी।। आये कितने आंधी तूफ़ा,...
error: Content is protected !!