Connect with us

News

मदर मिल्क बैंक जरूरतमंद शिशुओं के लिए वरदान साबित होगी- श्रम राज्य मंत्री

Published

on


मंथन 24 न्यूज जयपुर, । श्रम राज्य मंत्री श्री टीकाराम जूली ने कहा कि मदर मिल्क बैंक नवजात शिशुओं के लिए वरदान साबित हो रही है। अपना दूध दान कर माताएं जरूरतमंद नवजात शिशुओं के लिए एक तरह से जीवन दान दे रही हैं। श्रम राज्य मंत्री श्री जूली एवं जिला कलक्टर श्री नन्नूमल पहाडिया ने रविवार को अंतरराष्ट्रीय स्तनपान सप्ताह कार्यक्रम (1 से 7 अगस्त) का अलवर महिला चिकित्सालय परिसर में स्थित अंचल मदर मिल्क बैंक (सीएलसीएम) में द्वीप प्रज्ज्वलन कर शुभारम्भ किया। श्रम राज्य मंत्री श्री जूली ने कहा कि स्तनपान एक ऎसा दान है जो जरूरतमंद शिशु को आवश्यकता पड़ने पर जीवनदान देता है। इस दौरान मंत्री श्री जूली ने मदर मिल्क बैंक के विस्तार में पूर्ण सहयोग करने की बात करते हुए पीएमओ को निर्देशित किया कि सामान्य चिकित्सालय में बैड एवं पद वृद्धि का प्रस्ताव बनाए जिसको राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत कराया जाएगा। इस अवसर पर चिकित्सालय परिसर में जननी दिवस मनाया गया जिसमें मंत्री श्री जूली एवं जिला कलक्टर श्री पहाड़िया द्वारा सीएलएमसी में स्तनपान संबंधी सेवाएं लेने आई महिलाएं एवं दुग्ध दान करने आई माताओं को आभार पत्र व भेंट प्रदान कर प्रोत्साहित किया गया। इस अवसर पर सीएमएचओ डॉ. ओमप्रकाश मीना ने बताया कि मदर मिल्क बैंक में 9 सितम्बर 2016 से 30 जून 2021 तक 9 हजार 659 माताओं ने 23 हजार 995 बार आकर 28 लाख 81 हजार 400 एमएल दुग्ध दान स्वरूप दिया है जिससे 12 हजार 456 नवजात शिशुओं को 90 हजार 440 यूनिट दूध पिलाकर लाभान्वित किया गया। उन्होंने बताया कि लाभांवित नवजात शिशुओं में 552 निजी चिकित्सालय के, 154 कम्युनिटी के, 11 हजार 695 एसएनसीयू में लाभांवित हुए। उन्होंने बताया कि चिकित्सालय द्वारा 18 हजार 607 माताओं को 47 हजार 183 बार सिटिंग देकर स्तनपान में सक्षम किया गया तथा 75 हजार 85 प्रसूताओं को स्तनपान में काउंसिलिंग कर सक्षम बनाया गया। इस अवसर पर पीमएओ डॉ. सुनील चौहान, डिप्टी कंट्रोलर डॉ. विजय चौधरी, महिला चिकित्सालय प्रभारी डॉ. टेक चन्द, मिल्क बैंक की प्रभारी डॉ. अमनदीप आदि व्यक्ति उपस्थित रहे।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!